A railway bookstall in India.

बहुत पहले की बात है. सम्भवतः १९८० के आसपास की. मेरी पुस्तक ‘कश्मीर की श्रेष्ठ कहानियां’ राजपाल एंड संस, दिल्ली से छप रही थी. मेरा पोस्टिंग तब नाथद्वारा (उदयपुर) में था. समय निकाल कर मैं दिल्ली आया. राजपाल एंड संस में उस समय हिंदी का काम महेंद्र कुलश्रेष्ठजी देखते थे. मेरी पाण्डुलिपि के बारे में बातचीत हो जाने के बाद हम दोनों के बीच ‘पुस्तक-प्रेम’को लेकर चर्चा चली.

Read more ...

Typical Bollywood item scene.

I love watching good films in the company of friends and family. By good films I mean the ones which have a strong story to tell or those that have soulful melodious songs. Having seen a good film, I inform all my remotely located relatives and friends about it. As they say, joy doubles when you share it. Try watching a good film alone and you will know what I am talking about.

Read more ...

Use of English words in Hindi language.

आज हर शिक्षित/अर्धशिक्षित/अशिक्षित की जुबां पर ये शब्द सध-से गए हैं। स्टेशन, सिनेमा, बल्ब, पावर, मीटर, पाइप आदि जाने और कितने सैकड़ों शब्द हैं जो अंग्रेजी के हैं मगर हम इन्हें अपनी भाषा के शब्द समझ कर इस्तेमाल कर रहे हैं।

Read more ...

चीन के नोबेल शांति-पुरस्कार विजेता लियू शियाओबो (Liu Xiaobo) का पिछले दिनों 61 साल की उम्र में निधन हो गया. लियू शियाबो को चीन में लोकतंत्र के समर्थन में आवाज उठाने के लिए जाना जाता है. माना जाता है कि लोकतंत्र के समर्थन में आवाज बुलंद करने के लिए चीनी सरकार ने उन्हें काफी प्रताड़ित किया. 2009 में उन्हें 11 साल जेल की सजा सुनाई गई थी. इसके साल भर बाद 2010 में उन्हें शांति का नोबेल पुरस्कार मिला. उन्हें यह सम्मान लेने नॉर्वे भी नहीं जाने दिया गया. पुरस्कार समारोह के दौरान सम्मान में उनकी कुर्सी को खाली रखा गया था.

Read more ...

Hi friends, some old-timers may remember me. I am PatnaDaily’s NPC (Non-Performing Columnist). Not that I have run short of ideas to write; it is just that I have become plain lazy. I have been busy with passive pleasures like TV and Social Networking. You don’t need to think or write, just exist and maximum press a few buttons.

Read more ...

देश के विभाजन के मात्र एक वर्ष बाद १९४८ में जब पाकिस्तानी जिहादियों ने कश्मीर पर हमला बोल दिया तो कश्मीर के राजा हरि सिंह के लिए यह फैसला करना आसान हो गया की कश्मीर का भविष्य हिंदुस्तान का अभिन्न हिस्सा हो जाने में ही है.  उनके बुलाने पर हिंदुस्तान की सेना ने जिहादियों के बढ़ते कदमों को रोक दिया. युद्ध-विराम के वक़्त जो जहाँ था वहीँ एक लाइन-ऑफ़-कंट्रोल बन गयी. उस दिन से आज तक कश्मीर घाटी पर पाकिस्तान भूखे कुत्ते की तरह नज़र गड़ाये बैठा है. गत ६९ सालों में भारत ने किसी और देश को मध्यस्तता करने नहीं दिया. इतने सालों बाद एकाएक चीन के दिल में कहाँ से ये सौहार्द जगा की वह अपनी मुंह लिए कश्मीर में मध्यस्तता का प्रस्ताव ले कर चला आया?

Read more ...

Is the Bihar coalition government in trouble? Are Lalu’s clan members seriously enmeshed in corruption scandals with him? Is Narendra Modi, the head of the federal government, wrecking political vendetta on his arch opponent? Is the BJP salivating to come to power even if it means embracing a betrayer?

Read more ...

Sino-Indian relations have never been rosy - especially after the 1962 aggression that the Chinese launched against India in retribution for India giving refuge and shelter to the Dalai Lama of Tibet. Despite that, the border with China, unlike the border with Pakistan has been less trouble prone all these years. Chinese seemed to be content with the area they had been holding and would rarely mess around with the Indian side - except for a rare overstepping of the border to keep up their reputation of being unpredictable.

Read more ...

इजराइल आजकल चर्चा में है. इस देश ख़ास तौर पर यहूदियों के साथ हमारे देश के मैत्रीपूर्ण संबंधों की पुरानी परम्परा रही है. दोनों देशों के बीच सौहार्दपूर्ण संबंधों को प्रगाढ़ करने वाली एक भावपूर्ण घटना आज नेट पर पढ़ने को मिली जिसे पढ़कर मन गदगद हुआ और अपने देश (भारत) की महानता पर गर्व हुआ.

Read more ...

View Your Patna

/30

Latest Comments