चौंसठ कश्मीरी पंडितों ने अनुच्छेद 370 हटाये जाने के विरोध में एक वक्तव्य जारी किया है। ये वही लोग हैं जो हर-हमेशा लाभ के पदों पर रहे हैं और पण्डितों के विस्थापन का दंश जिन्होंने कभी झेला नहीं।

Read more ...

With the advent of science technology, the world is shrinking day by day in terms of accessibility and communications. To reinforce the view, I would like cite a simple example that you can reach London from India in six hours, for which it used to take days and months in the past.

Read more ...

At the very beginning of writing this piece, I’d like to know whether you are a multilingual person. I am not sure of your answer whatever it may be. However, I assert that the world is indeed yours if your answer is in the positive. The next instant and related question is how many languages can you speak comfortably? Say 1, 2, 3, 4 or more?

Read more ...

पांच अगस्त २०१९ का दिन भारतीय इतिहास के पन्नों में स्वर्ण-अक्षरों में लिखा जायगा। जम्मू-कश्मीर राज्य को विशेष दर्जा देने वाली संविधान की धारा ३७० को हटाने के प्रस्ताव को राज्य-सभा ने अपनी मंजूरी दे दी। सचमुच, यह एक ऐतिहासिक फैसला है जिस पर कई दिनों से कई तरह की अटकलें लग रही थीं।

Read more ...

सावन का महीना चल रहा है. हर तरफ शिव भक्तों की गंगा बह रही है चाहे वह सड़के हो या आभासी दुनिया. पूरे सावन यह धूम मची रहेगी. इस पावन महीने में सोमवार का खास महत्व होता है. शिवभक्त हर सोमवार पूजा-पाठ करते हैं तभी कुछ अन्न ग्रहण करते हैं. आज सावन का तीसरा सोमवार है. अपने स्कूल में बैठा अपना मोबाइल चला रहा था तभी एक संदेश आया -

Read more ...

It is disturbing to find that a large population of the country is suffering either from one or more communicable or non-communicable diseases. Data, in fact suggest that non-communicable diseases are fast taking greater number of people into its grip. The ever-growing number of patients of Cancer, CVD, Diabetes, Liver and Kidney ailment vindicates this point.

Read more ...

30 जुलाई 2019 का दिन इतिहास में दर्ज हो गया। तीन तलाक विधेयक को राज्य सभा ने अपनी मंजूरी दे दी। लोक सभा से इस बिल को पहले ही मंजूरी मिल गयी थी। सचमुच, महिला सशक्तीकरण की दिशा में उठाया गया यह एक अभूतपूर्व कदम है! तुष्टीकरण के चलते जो न्याय पिछली सरकारें शाहबानो को नहीं दे पायीं थी, वह चिरप्रतीक्षित न्याय वर्तमान सरकार ने शाहबानो के हवाले से मुस्लिम महिलाओं को लगभग 34 वर्ष बाद दिला दिया।

Read more ...

किसी ज़माने में संपादक की ओर से लेखक के लिए यह फौरी हिदायत होती थी कि भेजी गई रचना मौलिक, अप्रकाशित हो और अन्यत्र भी न भेजी गई हो। पता लिखा/टिकट लगा लिफाफा रचना के साथ संलग्न करना आवश्यक होता था अन्यथा अस्वीकृति की स्थिति में रचना लौटाई नहीं जा सकती थी। रचना के प्रकाशन के बारे में लगभग तीन माह तक जानकारी हासिल करना भी वर्जित था।रचना छपती तो मन बल्लियों उछलता और अगर लौट आती तो उदासी और तल्खी कई दिनों तक छाई रहती।

Read more ...

मोब-लिन्चिंग की, छेड़खानियों की, झगड़े फसाद की, मार-कुटाई की, हत्याओं आदि की घटनाएँ बढ़ रही हैं और इनकी वीडियो-क्लिप्स हमें आये दिन टीवी चैनलों पर या अन्यत्र देखने को मिलती हैं।

Read more ...

With the passage of time as one grows older having lived a life full of joy and sorrow, ups and downs shifting from one place to another in connection with his job commitment etc., he comes across several persons who could be named as his colleagues, work-partners or friends. But then, real good friends are so rare to find these days. Friendship has become more or less a give and take affair now.

Read more ...

View Your Patna

/30

Latest Comments