Politicians in India like to dramatize their detention by the police or judicial imprisonment. Following her Emergency rule and defeat at the 1977 general election, Indira Gandhi, the former Prime Minister, also resisted arrest when the police officials arrived at her residence with the required warrant. The mobs gathered and turned her custody into a political rally.

Read more ...

पिछले दिनों राहुल गाँधी ने खाड़ी देश बहरीन की यात्रा की । कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद अपनी पहली विदेश यात्रा के दौरान बहरीन में राहुल गांधी ने वहां एक कार्यक्रम में भारतीय मूल के लोगों को संबोधित करते हुए अपने देश की वर्तमान सरकार की खासी बुराई की। उन्होंने स्पष्ट किया कि सरकार गरीबी हटाने, रोजगार देने और शिक्षा-व्यवस्था में सुधार लाने के बजाय नफरत फैलाने और समाज को जातियों में बांटने का काम कर रही है।

Read more ...

There’s undoubtedly a sizable number of people in Bihar and elsewhere who believe that Lalu was held guilty by the CBI court in the fodder scams because he belonged to a Backward Yadav caste. They press the argument that this backward caste leader was trying with a missionary zeal to secure “social justice” to the millions coming from the lower strata of the humanity. “The feudal-Manuwadi upper castes couldn’t swallow his rise,” they assert.

Read more ...

सियासी पार्टियों को व्यक्ति कहने को तो जनता जनार्दन की सेवा करने, ज़ंग-खाई व्यवस्था में बदलाव लाने या फिर देश/समाज का चहुमुखी विकास करने आदि की गर्ज़ से जॉइन करता है।

Read more ...

राहत फतेह अली खान के गाने 'मेरे रश्के क़मर…' की आजकल बड़ी धूम मची हुई है। सम्भवतः बहुत कम लोग इस गाने के मतले का अर्थ जानते होंगे। कभी-कभी ऐसा भी होता है कि शब्दों का अर्थ जाने बगैर ही हम वाह-वाह करने लगते हैं, शायद इसलिए क्योंकि सब लोग कर रहे होते हैं।

Read more ...

I visited the 24th Patna Book Fair at its new venue, the newly-built commodious Gyan Bhawan on 8th December with an element of curiosity aroused by the change - a shift from the dusty outdoors expanse of Gandhi Maidan to an indoors Convention Hall.

Read more ...

राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में अपना पहला वक्तव्य हिंदी में देते तो कितना अच्छा रहता ! देश की अस्मिता और पार्टी की गरिमा में चार चांद लग जाते। कहना न होगा कि देश के मात्र आठ-दस प्रतिशत लोग अंग्रेज़ी समझते हैं, शेष 90 प्रतिशत हिंदी जान लेते हैं ।

Read more ...

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणि शंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री के लिये 'नीच' शब्द का प्रयोग कर खुद अपने को और अपनी पार्टी को परेशानी में डाल दिया है। हुआ यों कि गुजरात चुनाव के पहले चरण के प्रचार के आखिरी दिन कांग्रेस के नेता मणि शंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर एक विवादित बयान दिया।

Read more ...

मालदीव अपने देश भारत से ज़्यादा दूर नहीं है। दिल्ली से इसकी दूरी लगभग 2000 किलोमीटर है जो हवाई जहाज़ से पांच-छः घण्टों में पूरी हो जाती है। मालदीव की आबादी में ज्यादातर लोग सदियों पहले दक्षिण भारतीय इलाकों (मुख्य रूप से केरल) से गए हुए थे।

Read more ...

आखिर एक दिन लगभग तीस वर्षों तक बाहर रहने के बाद उसने अपने घर-गाँव को देखने का मन बना ही लिया।

तीस वर्षों की अवधि कोई कम तो नहीं होती। तीस वर्ष! यानी पूरे तीन दशक। बच्चे जवान हो जाते हैं, जवान प्रौढ़ और प्रौढ़ जीवन के आखिरी पड़ाव में पहुंचकर 'क्या पाया, क्या खोया की दुविधा मन में पाले दिन-दिन धकियाते जाते हैं।

Read more ...

कश्मीर अगर कोई समस्या नहीं है तो फिर वार्ताएं क्यों? यानी सरकार मानकर चल रही है कि कश्मीर की समस्या सुलझी नहीं है और बातचीत अनिवार्य है।

Read more ...

View Your Patna

/30

Latest Comments