मूल लेखक: दीपक कौल
(रूपान्तरकार: डॉ० शिबन कृष्ण रैणा)

वासुदेव के घर में जब नव-वधू ने प्रवेश किया तो सबसे पहली बात जो उसे समझाई गई वह थी, ‘ध्यान रखना वधू। सामने वाली पोशकुज से कभी बात मत करना। एक तो इस कुलच्छनी की नजर ठीक नहीं है, दूसरे बनते काम बिगाड़ देने में इसे देर नहीं लगती। चुड़ैल हमेशा उस सामने वाली खिड़की पर बैठी रहती है।”

Read more ...

अलीगढ़ से हिंदू महासभा का गांधी के तस्वीर पर गोली चलाने का वीडियो पूरे विश्व में जिस तरह से फैल रहा है, जिस प्रकार नाथूराम का भूत लोगों के सर चढ़कर बोल रहा है ऐसे में मुझे डॉक्टर राहत इंदौरी का एक शेर याद आ पड़ता है..

Read more ...

19 जनवरी 1990 का दिन कश्मीरी पंडितों के वर्तमान इतिहास-खंड में काले अक्षरों में लिखा जायेगा। यह वह दिन है जब पाक समर्थित जिहादियों द्वारा कश्यप-भूमि की संतानों (कश्मीरी पंडितों) को अपनी धरती से बड़ी बेरहमी से बेदखल कर दिया गया था और धरती के स्वर्ग में रहने वाला यह शांतिप्रिय समुदाय दर-दर की ठोकरें खाने पर मजबूर हुआ था। यह वही काली तारीख है जब लाखों कश्मीरी पंडितों को अपनी जन्मभूमि, कर्मभूमि, अपने घर आदि हमेशा के लिए छोड़ कर अपने ही देश में शरणार्थी बनना पड़ा था।

Read more ...

Randhir Verma, I.P.S (Bihar R R 1974) Superintendent of Police (SP) was martyred in an encounter with terrorists who were trying to loot a bank in Dhanbad twenty-seven years ago.

Read more ...

गत शनिवार को दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में एक मुठभेड़ स्थल पर घुसने का प्रयास करने वाली उग्र भीड़ पर सुरक्षा बलों ने गोलियां चला दीं जिसमें सात आम नागरिकों की मौत हो गई। इस मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गए और सेना का एक जवान भी शहीद हो गया।

Read more ...

Congress leaders in Patna celebrate their party's victory in Rajasthan, Madhya Pradesh, and Chhattisgarh.

हाल में हुए क्षेत्रीय चुनाव परिणामों से विदित है कि देश की जनता ने भाजपा को प्रताड़ना दे कर पार्टी के मुखियाओं को एक स्पष्ट सन्देश भेजा है. इस चुनाव परिणाम से मुझे तनिक भी आश्चर्य नहीं हुआ क्योंकि नुक्कड़ और नाई की दुकान में जो आम जनता की राजनीतिक विश्लेषण चल रही थी, उससे जनता में रोष पिछले कई महीनों से बढ़ता हुआ नज़र आ रहा था. बार बार यही इल्जाम लग रहे थे की सरकार ने कीमत पर काबू रख पाने में कोताही की और देश में नौकरियां नहीं बढीं. 

Read more ...

Disclaimer: If I express my less than reverential opinion about Mr. Rahul Gandhi, it does not earn me an automatic membership to Mr. Modi’s fan club. It is not in me to be a 'bhakt', a mandarin, a camp follower, or a palanquin bearer. I am an independent citizen who struts in all seriousness, wearing his cap of sovereignty. The stance of the citizen taking himself seriously, and hanging on to the democratic premise that he is the master, is at the heart of the absurd theatre called electoral democracy: a scene from this Theatre of the Absurd.

Read more ...

View Your Patna

/30
Due to worldwide COVID-19 pandemic, PatnaDaily is running in a restricted mode as our reporters and photographers remain indoor due to the recent nationwide lock-down. We will resume full service as soon as possible. Stay safe and thanks for your patience.
Toggle Bar

Latest Comments