किसी ज़माने में संपादक की ओर से लेखक के लिए यह फौरी हिदायत होती थी कि भेजी गई रचना मौलिक, अप्रकाशित हो और अन्यत्र भी न भेजी गई हो। पता लिखा/टिकट लगा लिफाफा रचना के साथ संलग्न करना आवश्यक होता था अन्यथा अस्वीकृति की स्थिति में रचना लौटाई नहीं जा सकती थी। रचना के प्रकाशन के बारे में लगभग तीन माह तक जानकारी हासिल करना भी वर्जित था।रचना छपती तो मन बल्लियों उछलता और अगर लौट आती तो उदासी और तल्खी कई दिनों तक छाई रहती।

Read more ...

मोब-लिन्चिंग की, छेड़खानियों की, झगड़े फसाद की, मार-कुटाई की, हत्याओं आदि की घटनाएँ बढ़ रही हैं और इनकी वीडियो-क्लिप्स हमें आये दिन टीवी चैनलों पर या अन्यत्र देखने को मिलती हैं।

Read more ...

With the passage of time as one grows older having lived a life full of joy and sorrow, ups and downs shifting from one place to another in connection with his job commitment etc., he comes across several persons who could be named as his colleagues, work-partners or friends. But then, real good friends are so rare to find these days. Friendship has become more or less a give and take affair now.

Read more ...

Litchi or lychee is believed to have originated in China. At present, China is the largest litchi producing country and India along with China accounts for more than 91 percent of the world litchi production. Bihar produces almost 75 percent of total India’s litchi production. Litchi is the livelihood for millions of people as it provides both on-farm and off-farm employment and its cultivation is the livelihood security for a large population, especially in the state of Bihar.

Read more ...

It was really an unprecedented, historical, educational and wonderful speech given by PM Modi in the Central Hall while addressing the newly-elected Members of Parliament of NDA. He has set the tone, direction and working agenda of his government for the next five years. He has refined previous slogan as “Sabka saath, sabka vikas aur sabka vishwas” (With everyone, everyone's development, and everybody's confidence).

Read more ...

सरकार बदलने के साथ ही बहुत सारी बातें अनायास ही बदल जाती हैं या अमल में आती हैं. नयी नीतियाँ, नये नियम, नये आदेश, नये लोग, और नयी समझ का आगाज़ होता है. यह एक स्वाभाविक प्रक्रिया है क्योंकि “तिल तिल नूतन होय” वाला आप्त-वचन प्रकृति और राजनीति दोनों पर लागू होता है.

Read more ...

As is customary, when I visited my grandchildren this time round, I asked them for their wish list of books. The younger one, all of nine years, said she wants nothing but Roald Dahl. She has read them all and she thinks that, that is all there is to good writing.

Read more ...

चीन पर पड़े अंतरराष्ट्रीय दबाव के कारण उसकी हठ-धर्मिता को झुकना पड़ा और यूएन ने कुख्यात आतंकी मसूद अजहर को 'ग्लोबल टेररिस्ट' घोषित कर दिया। इसे भारत की कूटनीतिक विजय ही माना जाएगा। कुछ मित्रों का कहना है कि मसूद को बीजेपी की सरकार ने ही तो आतंकियों को सौंप दिया था आदि।

Read more ...

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती जेकेएलएफ के अलगाववादी नेता यासीन मलिक की जेल से रिहाई के लिए गुहार लगा रही है। (शायद धरने पर भी बैठी है।) यह वही अलगाववादी नेता यासीन मलिक है जिसपर 25 जनवरी 1990 में भारतीय वायुसेना कर्मियों पर आतंकी हमले में शामिल होने का आरोप है। इस हमले में वायुसेना के स्क्वाड्रन लीडर रवि खन्ना सहित चार वायुसेना कर्मियों की मौत हो गई थी, जबकि 10 वायुसेना कर्मी जख्मी हो गए थे। और भी कई संगीन आरोप हैं इस अलगाववादी मलिक पर।

Read more ...

लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के बाद विपक्ष ने ईवीएम के इस्तेमाल पर प्रश्न चिन्ह लगाया है। रविवार को 21 पार्टियों ने नई दिल्ली में लोकतंत्र बचाओ बैनर के तले प्रेस कांफ्रेंस कर ईवीएम को लेकर गंभीर आरोप लगाए। विपक्षी दलों के नेताओं ने चुनाव आयोग को ईवीएम की गड़बड़ी के विरोध में ज्ञापन दिया। निस्तारण नहीं हुआ तो मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने की घोषणा भी की। 

Read more ...

View Your Patna

/30

Latest Comments

Guest Columns, Features, Lifestyle, Blog