Renowned celebrities and social figures are followed by their fans for the popularity they acquire by dint of their hard work and long drawn out struggle to make a mark in the society they live in. They are in a way sometimes called Icons of that society. Their lifestyle, way of working, approach towards life, etc. bear a deep impact on their followers and the people who like them the most.

Read more ...

Crisis of Covid-19 has, if not entirely, but partially changed our living habits more especially habits relating to food consumption. Since moving out from homes is almost controlled due to lockdowns and curfews, you may not take the risk of going out to a restaurant to enjoy breakfast, lunch, or dinner now. You have to remain contained with what is cooked and served to you at home. Ordering food from outside, too, involves high risk and is not advisable.

Read more ...

In a pre-planned attack by the Chinese army on Indian soldiers with nail-studded sticks and iron rods (as per media reports) recently, is a cowardly act and should be strongly denounced. India's twenty brave soldiers sacrificed their lives in Galvan valley face-off for the honor of their motherland. There have been more casualties on the other side, as well.

Read more ...

हर टीवी चैनल और सोशल मीडिया पर अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या की लगातार चर्चा हो रही है। वे ऐसे थे, वैसे थे, महान कलाकार थे, धोनी के किरदार को नए आयाम दिये आदि-आदि। शोक व्यक्त करना अपनी जगह ठीक है, मगर इतना भी विह्वल न हों कि असली वीरों को आप भूल जाएं।

Read more ...

करोना-जनित संकट की मार को और अब ज्यादा न सहने के फलस्वरूप अपने-अपने ठिकानों से घर-गाँव जाते और रास्तों में फंसे मज़दूरों का मर्मान्तक हाल लगभग हर चैनल अपनी लच्छेदार/भावपूर्ण कमेंटरी के साथ इन दिनों दिखा रहा है। शायद अपनी टी-आर-पी बढाने के लिए।

Read more ...

समय को इस सृष्टि की सबसे अनुपम और बलवती वस्तु माना गया है। जब समय यानी वक्त बदलता है तो इंसान को राजा से रंक और रंक से राजा बना देता है। इसके कहर से बड़े-बड़े राजा-महाराजा तक घबराते हैं।

Read more ...

The diabolic Corona virus is creating havoc all around the world. Nations hit by this pandemic infection have declared lock downs to save the lives of their countrymen. Every human being under the sun is virtually imprisoned or caged and only birds are flying in the sky!

Read more ...

प्रसिद्ध कूट-नीतिज्ञ चाणक्य का कथन है कि राजा का यह कर्त्तव्य बनता है कि वह अपने राज्य में प्रजा के जीवन और सम्पत्ति की रक्षा करे। राजा से यह भी अपेक्षा की जाती है कि तमाम सामाजिक संकटों में अपनी प्रजा की वह रक्षा करे। यही नहीं राजा को अपनी प्रजा की अकाल, बाढ़, महामारी आदि में समुचित रक्षा-व्यवस्था करनी चाहिए।

Read more ...

शाहीन बाग़ में जुड़े मजमे को संबोधित करने के लिए विभिन्न पार्टियों के नेताओं में होड़ मची हुयी है। कांग्रेसी नेता मणिशंकर अय्यर, शशि थरूर, दिग्विजय सिंह, सलमान खुर्शीद आदि इस मौके को हाथ से न जाने देने की गरज से भीड़ को उलटी-सीधी पट्टी पढ़ा चुके हैं और पढ़ा भी रहे हैं।

Read more ...

डाक्टर कुमार विमल बिहार के ही नहीं समूचे हिंदी जगत के एक जाने-माने कवि, लेखक और चिन्तक थे। बिहार राष्ट्रभाषा परिषद् के निदेशक, तत्पश्चात बिहार लोकसेवा आयोग के सदस्य और बाद में इसी आयोग के अध्यक्ष बने।

Read more ...

मीडिया-कर्म के दायित्व पर बहुत कुछ लिखा या समझाया जाता रहा है। उसका निष्पक्ष रहना या फिर किसी विचार या पक्ष पर अपना अलग से स्टैंड (stand) लेना, इस पर भी बहुत बहस हो चुकी है।

Read more ...

पिछले दिनों ईयू/योरोपियन यूनियन का एक शिष्ट-मंडल जम्मू-कश्मीर के ताजा हालात का जायज़ा लेने के लिए घाटी के दौरे पर गया था। पत्रकारों को संबोधित करते हुए शिष्ट-मंडल ने स्पष्ट शब्दों में यह रेखांकित किया है कि आर्टिकल 370 को हटाया जाना भारत देश का अपना अंदूरूनी मामला है। घाटी में हो रही आतंकी घटनाओं की सभी सदस्यों ने एकस्वर में भर्त्सना की है और अभी हाल ही में पश्चिमी बंगाल के पांच मज़दूरों की आतंकियों द्वारा की गई जघन्य हत्याओं की कड़े शब्दों में निंदा भी की है।

Read more ...

View Your Patna

/30

Latest Comments